Related Top Articles

"दुनिया में सबसे अधिक बारिश कहाँ होती है ? क्या आप जानते हैं कि दुनिया में सबसे ज्यादा बारिश कहां होती है? चेरापूंजी? या मासिनराम?"

  • 0
  • 63

Hello world

दुनिया में सबसे अधिक बारिश कहाँ होती है ?
क्या आप जानते हैं कि दुनिया में सबसे ज्यादा बारिश कहां होती है? चेरापूंजी? या मासिनराम?
दुनिया में सबसे ज्यादा नमी वाले जगह के तौर पर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में मेघालय के मौसिनराम का नाम दर्ज है। पहाड़ियों के बीच बसा ये इलाका ऐतिहासिक तौर पर दुनिया भर में सबसे ज़्यादा बारिश के लिए जाना जाता है। यहां बंगाल की खाड़ी की वजह से काफी नमी है। साथ ही यहां औसतन सालाना बारिश 11,871 मिलीमीटर होती है।
कहा जाता है कि सालभर में यहां जितनी बारिश होती है वो इतनी है कि ब्राजील के रियो डि जेनेरियो स्थित क्राइस्ट की 30 मीटर ऊंचे स्टेच्यू के घुटनों तक पानी आ जाएगा। चेरापूंजी की जगह अब उसी से लगभग 15 किलोमीटर दूर बसा मासिनराम ले चुका है। गिनीज बुक में दर्ज है कि साल 1985 में मासिनराम में 26,000 मिलीमीटर बारिश हुई थी जो अपने आप में एक रिकॉर्ड रहा।
मासिनराम की रिकॉर्डतोड़ बारिश में से 90 फ़ीसदी बारिश महज छह महीने यानि मई से अक्तूबर के बीच हो जाती है। यहां जुलाई में सबसे ज़्यादा बारिश होती है। औसतन यहां इस महीने में 3500 मिलीमीटर बारिश होती है। दिसंबर से फरवरी के बीच यहां बहुत कम बारिश होती है।
बता दें कि ‘बंगाल की खाड़ी’ का मानूसन दक्षिणी हिन्द महासागर की स्थायी पवनों की वह शाखा है, जो भूमध्य रेखा को पार करके भारत में पूर्व की ओर प्रवेश करती है। ये मानसून सबसे पहले म्यांमार की अराकान योमा तथा पीगूयोमा पर्वतमालाओं से टकराता है, जिससे यहां उत्तर पूर्व में तेज बारिश होती है। फिर ये मानसूनी हवाएं सीधे उत्तर की दिशा में मुड़कर गंगा के डेल्टा क्षेत्र से होकर खासी पहाड़ियों तक पहुंचती हैं। लगभग 15,00 मीटर की ऊंचाई तक उठकर मेघालय के चेरापूंजी तथा मौसिनराम नामक स्थानों पर घनघोर वर्षा करती हैं।
किसी भी स्थान पर रहने वाले लोगों का जीवन वहां की जलवायु पर बहुत अधिक निर्भर करता है। मौसिनराम और चेरापूंजी में जहां हमेशा मौसमी नमी भरी रहती है। वहीं, वहां के लोगों का पहनावा, खान-पान और काम-काज का तरीका आदि रेगिस्तान में रहने वालों से बिलकुल अलग होते हैं। इन हिस्सों में लगातार बारिश होने के वजह से खेती करना मुश्किल होता है। इसीलिए यहां सब कुछ दूसरे गांव और शहरों से आता है।
मौसिनराम अपनी प्राकृतिक सुन्दरता के लिए भी खासा प्रसिद्ध है। वर्षा में यहां ऊंचाई से गिरते पानी के फ़व्वारे और कुहासे जैसे घने बादलों को क़रीब से देखना काफी रोमांचक होता है।
 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!