Related Top Articles

विज्ञान को लोकप्रिय बनाने के लिए हर वर्ष 10 दिन का योगदान देंगे वैज्ञानिक

  • 0
  • 10

Hello world

समाज के साथ ज्ञान साझा करने के लिए वैज्ञानिकों से अपेक्षा की जाती है कि वे सरकार की वैज्ञानिक सामाजिक उत्तरदायित्व (एसएसआर) पहल के तहत विज्ञान को जनता के बीच लोकप्रिय बनाने के लिए हर वर्ष कम से कम 10 दिनों का योगदान दें।

नेशनल टेक्नोलॉजी डे के मौके पर विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री जितेंद्र सिंह ने एसएसआर के दिशानिर्देश जारी किए। ये दिशानिर्देश एसएसआर गतिविधियों में लगे लोगों को “प्रोत्साहित” करने और प्रदर्शन मूल्यांकन में इसे उचित महत्व देने का प्रयास करते हैं।

एसएसआर का उद्देश्य समाज के कम संपन्न, हाशिए पर पड़े और शोषित वर्गों की क्षमता को बढ़ाकर उन्हें सशक्त बनाने के लिए मौजूदा परिसंपत्तियों के अधिकतम उपयोग के लिए एक प्रभावी पारिस्थितिकी तंत्र बनाना है। साथ ही, विज्ञान और समाज के संबंधों को मजबूत करने के लिए स्वैच्छिक आधार पर वैज्ञानिक समुदाय की परोक्ष क्षमता का दोहन करना है और इस तरह सामाजिक जरूरतों के लिए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी पारिस्थितिकी तंत्र को उत्तरदायी बनाना है।

दिशानिर्देश में कहा गया कि संस्थागत परियोजनाओं और व्यक्तिगत गतिविधियों का समय-समय पर मूल्यांकन करने के लिए ‘एंकर वैज्ञानिक संस्थान’ सहित प्रत्येक संस्थान में एक एसएसआर मूल्यांकन प्रकोष्ठ होना चाहिए।

.
.
#science #technology #funscience #explore #onlinelearningcommunities #digitallearning #keeplearning #justlearning


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!