Related Top Articles

मध्य प्रदेश में स्कूली शिक्षकों के लिए 3 साल की ग्रामीण सेवा अनिवार्य

  • 0
  • 6

Hello world

मध्य प्रदेश में नई टीचर ट्रांसफर पॉलिसी 2023-24 को मंजूरी मिल गई है। नयी पॉलिसी के तहत शिक्षकों के तबादले और ग्रामीण इलाको के स्कूलों में शिक्षकों की कमी को पूरा करने के लिए महत्वपूर्ण निर्णय दिया है। अब शिक्षा विभाग में परीक्षा भर्ती के बाद टीचर्स को शुरुआत के 3 साल गांव के स्कूलों में पढ़ाना अनिवार्य है। इस तरह से सभी शिक्षकों को अपनी सेवा अवधि के दौरान कम से कम 10 साल ग्रामीण इलाकों के स्कूलों में पढ़ाना अनिवार्य होगा। इसी तरह लंबे समय से शहरी इलाकों के स्कूलों में पदस्थ टीचर को भी ग्रामीण इलाकों के स्कूलों में पदस्थ किया जाएगा।

.
स्कूल शिक्षा विभाग की नई ट्रांसफर नीति में प्रावधान किया गया है कि स्थानांतरण में वरीयता क्रम को निर्धारित किया जाएगा। टीचर्स को अब जनप्रतिनिधियों के स्टाफ में पदस्थ नहीं किया जाएगा, यानी शिक्षक अब किसी मंत्री या दूसरे नेता के स्टाफ में नहीं रहेंगे। इसके साथ ही स्कूल शिक्षा विभाग में तबादले के लिए आवेदन ऑनलाइन ही लिए जाएंगे। मॉडल स्कूल एक्सीलेंस और सीएम राइस स्कूल में पदस्थ शिक्षकों का स्थानांतरण स्वैच्छिक आधार पर नहीं किया जाएगा। एक बार ट्रांसफर होने के बाद दूसरी बार स्थानांतरण नहीं किया जाएगा।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!