Related Top Articles

17 वर्षीय अमेरिकी लड़के ने बनाई दिमाग से कंट्रोल होने वाली 'रोबोटिक आर्म'

  • 0
  • 49

Hello world

17 वर्षीय अमेरिकी लड़के ने बनाई दिमाग से कंट्रोल होने वाली 'रोबोटिक आर्म' अमेरिका के 17 वर्षीय बेंजामिन चोई ने कम कीमत वाली एक रोबोटिक प्रोस्थेटिक आर्म विकसित किया है जिसे दिमाग से नियंत्रित किया जा सकता है। बेंजामिन चोई को रोबोटिक आर्म्स बनाने का विचार तब आया है जब उसने शोधकर्ताओं द्वारा एक मरीज के मस्तिष्क में सेंसर लगाते हुए 60 मिनट का वीडियो देखा, जिसमें वह अपने दिमाग से रोबोटिक आर्म्स को स्थानांतरित किया। यह तकनीक देखकर बेंजामिन काफी प्रभावित हुआ, लेकिन उसके लिए यह प्रयोग मुश्किल था। क्योंकि इसके लिए उसे ओपन हार्ट सर्जरी की आवश्यकता थी। बेंजामिन ने सबसे पहले कम लागत वाले रोबोटिक आर्म पर काम करना शुरू किया और आर्म को छोटे टुकड़ों में प्रिंट करने के लिए अपनी बहन के 3डी प्रिंटर व फिशिंग लाइन का इस्तेमाल किया और बाद में इन्हें एक साथ जोड़ दिया। आर्म को मजबूत और टिकाऊ बनाने के लिए, उसने इसके डिजाइन को 75 बार दोहराया। इंजीनियरिंग-ग्रेड सामग्री से बना यह रोबोटिक आर्म चार टन वजन तक का सामना कर सकता है।

इस रोबोटिक आर्म की विशेषता है कि यह आर्टिफीसियल इंटेलेजन्स (AI) का इस्तेमाल करती है जो उपयोगकर्ता के दिमाग की तरंगे पढ़ने में सक्षम है। बेंजामिन को पहले से ही रोबोट बनाने और कोडिंग का अनुभव होने की वजह से इस प्रोजेक्ट को बहुत आसानी से पूरा कर लिया। यह तकनीक इलेक्ट्रोएन्सेफलोग्राफी (ईईजी) का उपयोग करती है, जो सिर पर सेंसर के माध्यम से मस्तिष्क की विद्युत गतिविधि को रिकॉर्ड करती है। 'रोबोटिक आर्म' की दक्षता सुनिश्चित करने के लिए, बेंजामिन ने छह वयस्क स्वयंसेवकों के साथ मिलकर काम किया और यहां तक कि उनके मस्तिष्क तरंग डेटा को भी एकत्र किया। इस 'रोबोटिक आर्म' की लागत 300 डॉलर है, जबकि बाजार में एक बुनियादी, शरीर-संचालित रोबोटिक आर्म की कीमत 7,000 डॉलर तक है।
.
.
#roboticarm #researchers #engineering #knowledge #K12 #explore #knowledge #justlearning


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!