Related Top Articles

वैज्ञानिकों ने बनाई ई-स्किन, जो वास्तव में दर्द महसूस कर सकती है

  • 0
  • 1

Hello world

ब्रिटेन में भारतीय मूल के इंजीनियर के नेतृत्व में शोधकर्ताओं की एक टीम ने एक इलेक्ट्रॉनिक त्वचा बनाई है जो “दर्द” महसूस करने में सक्षम है और उनके अनुसार यह मानव जैसी संवेदनशीलता के साथ नई पीढ़ी के स्मार्ट रोबोट बनाने में मदद कर सकती है।

इस टीम ने कृत्रिम त्वचा को एक नए प्रकार की प्रणाली के साथ विकसित किया है जो असिनेप्टिक प्रणाली पर आधारित है। यह प्रणाली सीखने के लिए मस्तिक के तंत्रिका मार्गों का उपयोग करती है। इलेक्ट्रानिक स्किन डाटा एकत्र करेगा और आगे प्रोसिस करने के लिए कम्प्यूटर को भेजेगा।

जर्नल साइंस रोबोटिक्स के मुताबिक, नई स्किन में त्वचा में निर्मित एक सर्किट एक कृत्रिम सिनैप्स के रूप में कार्य करता है, जो वोल्टेज को एक साधारण स्पाइक में कम करता है। टीम ने उस वोल्टेज स्पाइक के अलग-अलग आउटपुट का इस्तेमाल त्वचा को नकली दर्द के लिए उपयुक्त प्रतिक्रिया सिखाने के लिए किया, जो प्रतिक्रिया करने के लिए रोबोट के हाथ को ट्रिगर करेगा।

ग्लासगो यूनिवर्सिटी के जेम्स वाट स्कूल आफ इंजीनियरिंग के प्रोफेसर रवींद्र दहिया ने कहा कि यह खोज बड़े पैमाने पर न्यूरोमोर्फिक मुद्रित ई-त्वचा बनाने की दिशा में काम में एक वास्तविक कदम है जो उत्तेजना के लिए उचित प्रतिक्रिया देने में सक्षम है। यह हार्डवेयर के जरिये सीखने में सक्षम हैं और जिसे कुछ भी करने से पहले संदेश को आगे और पीछे, कहीं भी भेजने की आवश्यकता नहीं होती। इसके अलावा, यह आवश्यक गणना की मात्रा को कम करके स्पर्श का जवाब बहुत तेजी से देती है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!