Related Top Articles

जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप ने ली नेपच्यून रिंग्स की सबसे साफ़ फोटो

  • 0
  • 4

Hello world

नासा के जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप ने नेपच्यून और उसके रिंग्स की बहुत ही शानदार तस्वीर खींची है जो 30 से अधिक वर्षों में सबसे स्पष्ट दृश्य है। वहीं, जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप ने नेपच्यून के 14 ज्ञात चंद्रमाओं में से 7 चंद्रमा (गैलटेया, नायाड, थैलासा, डेस्पिना, प्रोटियस, लारिसा और ट्राइटन) को भी कैप्चर किया है।

.
आखिरी बार नेपच्यून की सबसे साफ और नजदीक की तस्वीर 1989 में वायेजर 2 स्पेसक्राफ्ट द्वारा ली गयी थी। वेब टेलीस्कोप द्वारा ली गई इस तस्वीर में कई चमकीली रिंग्स के अलावा धुंधली धूल वाली बैंड भी दिख रही है। नई तस्‍वीरों में नेप्‍चूयन सफेद रंग का नजर आ रहा है। क्योंकि जब हम जेम्स वेब टेलिस्कोप से नियर-इन्फ्रारेड कैमरा इमेज में देखते हैं तो नेपच्यून नीला नहीं दिखाई देता है। इसका कारण है कि यह नियर-इंफ्रारेड रेंज में लाइट को कैप्चर करता है। इस तस्वीर में एक पतली चमकीली लाइन भी भूमध्य रेखा का चक्कर लगाते हुए देखी जा सकती है। नेपच्यून का ऑर्बिट 164 वर्ष का है, जिस कारण इसका उत्तरी ध्रुव अच्छे से नहीं दिख पाता है। लेकिन पहली बार वेब टेलिस्कोप इसकी इस तरह की तस्वीर ले पाया है।
.
गौरतलब है कि अंधेरा, ठंडा और सुपरसोनिक हवाओं से घिरा, नेपच्यून हमारे सौर मंडल का सबसे दूर का ग्रह है। इसके साथ ही हम हमेशा नेपच्यून को नीले ग्रह के रूप में देखते हैं। ऐसा मीथेन की उपस्थिति के कारण होता है। यह बृहस्पति और शनि ग्रह की तुलना में हाइड्रोजन और हीलियम जैसे भारी तत्वों में समृद्ध है। यह ग्रह धरती की तरफ झुका हुआ है और सूरज का एक चक्‍कर पूरा करने में इसे 164 साल लगते हैं। जियोलॉजिस्‍ट्स को अभी तक इसके उत्‍तरी ध्रुव की कोई फोटोग्राफ या कोई जानकारी नहीं मिल सकती है। जेम्‍स वेब ने नेप्‍च्‍यून के जिन 14 चंद्रमाओं में से सात को देखा है उनमें से एक सबसे बड़ा चांद टाइटन भी आया है। टाइटन असाधारण तौर पर एक उल्‍टी कक्षा के तौर पर इसके चारों ओर चक्‍कर लगता है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!