Related Top Articles

वैज्ञानिकों ने विकसित किया प्लास्टिक खाने वाला एंजाइम PETase

  • 0
  • 1

Hello world

वैज्ञानिकों ने विकसित किया प्लास्टिक खाने वाला एंजाइम PETase प्लास्टिक उपयोगी है तो पर्यावरण के लिए सबसे बड़ा खतरा भी है। क्योंकि यह अपने आप खत्म नहीं होता है। प्लास्टिक को प्राकृतिक रूप से गलने में सदियों लग जाता है। कुछ दिनों पहले वैज्ञानिकों ने बताया कि माइक्रोप्लास्टिक हमारे फेफड़े तक पहुंच चुका है। लगातार बढ़ रहे प्लास्टिक कचरे के ढेर को ठिकाने लगाना अब तक वैज्ञानिकों के लिए सबसे बड़ा सिरदर्द रहा है। लेकिन अब ऑस्टिन में यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सस के वैज्ञानिकों और केमिकल इंजीनियरों ने ऐसी चीज बनाई है, जो कुछ ही घंटों के अंदर प्लास्टिक को गलाकर खत्म कर देगी। उम्मीद है कि ये एंजाइम धरती को पर्यावरण की सबसे बड़ी समस्या से निजात दिला देंगे।

वैज्ञानिकों ने प्लास्टिक को गलाने के लिए जिस एंजाइम को चुना, उसका नाम है PETase। उन्होंने एक मशीनी मॉडल का इस्तेमाल करके प्राकृतिक एंजाइम से PETase नाम के नए म्यूटेशन को तैयार किया। यह एंजाइम प्लास्टिक के अणुओं को तोड़-तोड़कर ऐसा बना देता है कि बैक्टीरिया उसे खाकर चट कर जाते हैं। सबसे बड़ी बात ये कि FAST-PETase ऐसा एंजाइम है जो 50 डिग्री से कम के तापमान में भी प्लास्टिक को गला सकता है। FAST-PETase बनाने में 51 अलग पोस्ट-कन्ज़यूमर प्लास्टिक कन्टेनर, पांच अलग प्लास्टिक फ़ाइबर्स, फ़ैबरिक्स, पानी की बोतल आदि पर शोध किया गया। एंजाइम ने हर तरीके के प्रोडक्ट को तोड़ कर अपनी योग्यता साबित की। इस एंजाइम से दुनिया से प्लास्टिक कम करने में मदद मिलेगी। ये न सिर्फ़ सस्ता बल्कि एक दीर्घकालिक उपाय भी है।

फ़िलहाल बहुत से लोग न तो प्लास्टिक रिसाइकल कर रहे हैं और डम्प यार्ड या लैंडफ़िल्स में प्लास्टिक जमा हो रहा है। इसलिए प्लास्टिक के नष्ट होने की रफ़्तार काफी कम है और प्लास्टिक के विकल्प की हम सभी को सख्त ज़रूरत है। बता दें कि भारत में सालाना लगभग 3.4 मिलियन टन प्लास्टिक कचरा उत्पन्न होता है। संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम का लक्ष्य वर्ष 2024 तक भारत के 100 शहरों में उनके प्लास्टिक अपशिष्ट प्रबंधन को लगभग तिगुना करना है।

.
.
#scientist #plastic #environment #engineering #microplastic #recycle #K12 #onlinelearning #explore #knowledge #justlearning


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!