Related Top Articles

वैज्ञानिकों ने बनाया कागज की तरह हल्का और पतला लाउडस्पीकर

  • 0
  • 36

Hello world

वैज्ञानिकों ने बनाया कागज की तरह हल्का और पतला लाउडस्पीकर

वैज्ञानिकों ने बनाया कागज की तरह हल्का और पतला लाउडस्पीकर विज्ञान की दुनिया में हर रोज कुछ न कुछ रिसर्च होता रहता है या फिर जो पहले से मौजूद है, उसे एडवांस बनाने के लिए एक से एक प्रयोग किए जाते हैं। Massachusetts Institute of Technology (MIT) के इंजीनियर्स ने ऐसा लाउडस्पीकर तैयार किया है, जो कागज जितना पतला और हल्का है। इस लाउडस्पीकर की विशेषता ये है कि इससे किसी भी सतह को एक एक्टिव हाई क्वॉलिटी ऑडियो सोर्स में बदला जा सकता है।

ट्रांजेक्शंस ऑफ इंडस्ट्रियल इलेक्ट्रॉनिक्स में पब्लिश स्टडी के अनुसार, ये एडवांस लाउडस्पीकर, पारंपरिक लाउडस्पीकर में इस्तेमाल होने वाली ऊर्जा का सिर्फ एक अंश ही लेता है। आमतौर पर लाउडस्पीकर बड़े होते हैं लेकिन हल्का और पतला होने के साथ-साथ ये काफी छोटा भी है, जो आसानी से हाथ में आ जाता है। ये किसी भी सतह से जुड़ा हो, तो हाई क्वॉलिटी साउंड पैदा करता है। इसके लिए बेहद सरल फैब्रिकेशन का इस्तेमाल किया गया है।

MIT नैनो के निदेशक और इस स्टडी के मुख्य लेखक व्लादिमीर बुलोविक का कहना है कि शीट जैसे स्पीकर में जो क्लिप जोड़नी होती है और इसे अपने कम्प्यूटर के हेडफोन पोर्ट में लगा देना है। इसके बाद सतह से जुड़ते ही ये साउंड प्रोड्यूस करेगा। इसका इस्तेमाल कहीं भी किया जा सकता है और इसमें बिजली की बेहद कम खपत होती है। लाउडस्पीकर में पीजोइलेक्ट्रिक मटीरियल से बनी फिल्म का इस्तेमाल हुआ है, जो वोल्टज मिलने के बाद मूव करती है और ऊपरी हवा के हिलने के बाद साउंड निकलता है। 1 किलोहर्ट्ज़ पर 25 वोल्ट बिजली मिलने के बाद स्पीकर ने 66 डेसिबल के लेवल पर हाई क्वॉलिटी साउंड प्रोड्यूस किया। वहीं 10 किलोहर्ट्ज़ पर ये साउंड बढ़कर 86 डेसिबल हो गया। एक औसत होम स्पीकर में 1 वाट से ज्यादा बिजली लगती है, लेकिन ये प्रति वर्ग मीटर में सिर्फ 100 मिलीवाट बिजली ही लेता है।
.
.
#scientist  #science #technology #researchers #K12 #e-learning #justlearning 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!